जानिए भगवान शिवजी का प्रिय पौधा “भांग” के चमत्कारिक औषधीय गुण एवं 18 आयुर्वेदिक उपाय!!

भांग सिर्फ नशा नहीं है, जानिए इसके कुछ बेहतरीन औषधीय गुण:- 

भांग को सामान्यत एक नशीला पौधा माना जाता है, जिसे लोग मस्ती के लिए उपयोग में लाते हैं। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि शिवजी को प्रिय भांग का पौधा औषधीय गुणों से भरा पड़ा है। भांग के मादा पौधों में स्थित मंजरियों से निकले राल से गांजा प्राप्त किया जाता है। भांग के पौधों में केनाबिनोल नामक रसायन पाया जाता है। भांग कफशामक एवं पित्तकोपक होता है।

bhang

शिवरात्री का दिन हो या रंगो का त्योहार होली हो भांग का रंग तो जमेगा ही। भांग पीकर रंग खेलने का मजा ही अलग है। भांग पीकर होश खोने की बात तो सब जानते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि भांग पीने के कुछ फायदे भी हैं। भांग, चरस या गांजे की लत शरीर को नुकसान पहुंचाती है। लेकिन इसकी सही डोज कई बीमारियों से बचा सकती है। इसकी पुष्टि विज्ञान भी कर चुका है।

पर हमारे देश में कुछ महामूर्ख एवं नशेड़ी किस्म के लोगों ने अपनी गलती करने, नाश करने या गलत आदत को छुपाने के लिए इस पौधे को भगवान् शिव शंकर से नशे के लिए जोड़ दिया। (जैसे आपने अक्सर लोगों को कहते हुए सुना होगा कि यह तो भोले शंकर का प्रसाद है लेने में कोई हर्ज़ नहीं )। पर हम बताते हैं आपको कि ये पौधा भगवान शंकर को इसलिए प्रिय था क्योंकि इस पौधे के अंदर अनगिनत चमत्कारिक औषधीय गुण उपस्थित हैं। जिससे कई बीमारियों का इलाज किया जा सकता है।  आज हम आपको इसके औषधीय गुणों से परिचित कराते हैं….

अगले पेज पर पढ़िए इसके फायदे …. 

पिछला पेज 1 of 5
आगे पढ़ने के लिए अगला पेज पर क्लिक करें

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE