भगवान भोलेनाथ ने श्रीकृष्ण से किया था भीषण युद्ध सिर्फ एक भक्त को बचाने के लिए… थर्रा उठी थी सारी सृष्टि!!

कांप उठी थी सारी सृष्टि जब केवल एक भक्त को बचाने के लिए जब भोलेनाथ ने श्रीकृष्ण से किया युद्ध.. 

महाप्रतापी एवं दैत्यराज बलि के 100 पुत्रों में बड़े पुत्र का नाम बाणासुर था, वह बचपन से ही भगवान शिव का परम भक्त था जब वाणासुर बड़ा हुआ तो वह हिमालय पर्वत की उच्ची चोटियों पर भगवान शिव की तपस्या करने लगा। बाणासुर की कठिन तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव उसे सहस्त्रबाहु के साथ-साथ अपार बलशाली होने का वरदान दिया। भगवान शिव के इस वरदान से अत्यन्त बलशाली हुए बाणासुर के सामने युद्ध में कोई भी टिक नहीं सकता था।

वाणासुर ने भगवान शिव को दी युद्ध की चुनौती… 

वरदान से महाबली हुए बाणासुर अपनी शक्ति पर इतना घंमड हो गया कि उसने कैलाश पर्वत पर जाकर भगवान शिव को युद्ध के लिए चुनौती दे डाली। बाणासुर की इस मूर्खता से क्रोधित हुए भगवान शिव ने उससे कहा कि तेरा अभिमान ज्यादा दिन नहीं चलेगा, तेरा नाश करने वाला जन्म ले चुका है, जिस दिन तेरे महल की ध्वजा गिरे उसी दिन समझ लेना तेरा काल आ गया है।

अगले पेज पर जानिए.. अनिरुद्ध पर मोहित हुई वाणासुरी की पुत्री… 

पिछला पेज 1 of 4

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE