ऐसा शिवलिंग जो हर 12 साल में बिजली गिरने पर हो जाता है खंडित!! “जुड़ जाता है स्वयं”

हर 12 साल बाद शिवलिंग पर भयंकर बिजली गिरती है…

यह कहना गलत ना होगा कि सृष्टि के कण-कण में शिव समाए हुए हैं और यह दुनिया उनकी शक्ति की एक अभिव्यक्ति मात्र है। भगवान भोलेनाथ की महिमा असीम और अपार है। वे स्वयं जितने निराले हैं तो उनके मंदिर भी उतने ही अनोखे हैं। भारत में भगवान शिव के ऐसे कई मंदिर हैं जिनसे जुड़ी घटनाएं अद्भुत कही जा सकती हैं। ऐसा ही एक मंदिर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में स्थित है। इसका नाम बिजली महादेव है। जानिए इस मंदिर से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें।

हिमाचल प्रदेश के कु्ल्लू जिले में एक ऐसा शिव मंदिर भी है जहां हर 12 साल बाद शिवलिंग पर भयंकर बिजली गिरती है। कहा जाता है कि बिजली गिरने के बाद शिवलिंग चकनाचूर हो जाता है। बिजली के आघात से शिवलिंग खंडित हो जाता है लेकिन पुजारी इसे मक्खन से जोड़ देते हैं और यह पुनः अपने आकार में परिवर्तित हो जाता है। शिव के चमत्कार से वह फिर से ठोस बन जाता है। जैसे कुछ हुआ ही न हो। यह अनोखा मंदिर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में स्थित है और इसे बिजली महादेव मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। कुल्लू और भगवान शिव के इस मंदिर का बहुत गहरा रिश्ता है। कुल्लू शहर में ब्यास और पार्वती नदी के संगम स्थल के नजदीक एक पहाड़ पर शिव का यह प्राचीन मंदिर स्थित है।

अगले पेज पर पढ़ें इस शिवधाम का इतिहास…

पिछला पेज 1 of 4

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE