जानिए क्यों मनाते हैं छठ पूजा? धार्मिक महत्व, मुहूर्त समय, भूल से भी न करें ये 6 गलतियां!

रामायण और महाभारत काल से जुड़ी है छठ पूजा!! भगवान श्रीराम ने की थी पूजा!! 

छठ महापर्व की शुरुआत 24 अक्टूबर से हो रही है। इसमें भगवान सूर्य की उपासना की जाती है। इस महापर्व का संबंध रामायण और महाभारत काल से है। इस महापर्व को लेकर मान्‍यता है क‍ि छठ पूजा रामायण काल से होती आ रही है। जब भगवान राम अपना वनवास पूरा कर अयोध्‍या लौटे थे तब इसकी शुरुआत हुई थी। सूर्य वंशी श्रीराम और सीता जी ने अपना राज्‍यभ‍िषेक होने के बाद भगवान सूर्य के सम्‍मान में कार्ति‍क शुक्‍ल की षष्‍ठी को उपवास रखा और पूजा अर्चना की। इसके बाद से यह पूजा एक महापर्व के रूप में मनाई जाने लगी।

द्रौपदी को म‍िला था खोया साम्राज्‍य…

महाभारत काल में इससे जुड़ा एक और कारण भी बताया जाता है। कहा जाता है क‍ि महाभारत काल में जब पांडव अपना सर्वस्व हार चुके थे। उनके पास कुछ नहीं रह गया था उस समय द्रौपदी यानी क‍ि पांचाली ने इस व्रत का अनुष्‍ठान कर पूजा की। इससे द्रौपदी और पांडवों को उनका पूरा साम्राज्‍य वापस म‍िल गया था। तभी से इस व्रत को करने की प्रथा चली आ रही है।  छठ पूजा की परंपरा और उसके महत्व का प्रतिपादन करने वाली पौराणिक और लोककथाओं के अनुसार यह पर्व सर्वाधिक शुद्धता और पवित्रता का पर्व है।

अगले पेज पर पढ़ें 34 साल बाद बन रहा है ऐसा महासंयोग…

पिछला पेज 1 of 4

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE