इस दीपावली 131 साल बाद आया विशेष महा संयोग! मिलेगा राजयोग यदि बिलकुल न करें ये काम! जानिए पूजा विधि एवं राशिफल!

शुभ है इस बार की दिवाली:- 131 साल बाद आया है गुरु-राहु का बुधादित्य राजयोग:-  

यह बात तो सभी को मालूम है कि, दीपावली का त्योहार क्यों मनाया जाता है भगवान राम जब असुरराज रावण को मारकर अयोध्या नगरी वापस आए तब नगरवासियों ने अयोध्या को साफ-सुथरा करके रात को दीपकों की ज्योति से दुल्हन की तरह जगमगा दिया था। तब से आज तक यह परंपरा रही है कि, कार्तिक अमावस्या के गहन अंधकार को दूर करने के लिए रोशनी के दीप प्रज्वलित किए जाते हैं। 

b_id_330869_diwali

दीपावली अर्थात दीपों का पर्व। अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने वाला यह महोत्सव इस वर्ष बेहद विशेष योगों से परिपूर्ण होगा। दीपावली (Diwali) का इंतजार सभी को बेसबरी से है। इस बार दीपावली एक ऐसा महासंयोग पड़ रहा है, जो सदियों में एक बार आता है। रविवार को पड़ने वाली दीपावली पर इस बार एक नहीं, बल्कि 3-3 विशेष योग बन रहे हैं। इस वर्ष दीपावली की पूजा विशाखा नक्षत्र में होगी जिसके स्वामी गुरु हैं। यह महासंयोग 131 साल बाद आया है। इन योगों में की गई लक्ष्मी पूजा से हर प्रकार के सुखों की प्राप्ति संभव है।

इस दीपावली पर सौभाग्य, बुधादित्य व धाता योग बन रहा है। ये तीनों योग बहुत ही विशेष हैं। इस पर्व पर विधि-विधान से महालक्ष्मी का पूजन सुख-समृद्धि और धन-संपत्ति देने वाला होगा। यह योग धन लाभ एवं सभी के लिए शुभ फल देने वाला है। वैदिक विद्वानों के अनुसार इस योग में लक्ष्मी पूजा उन्नति देने वाली होगी। साथ ही व्यापार-व्यवसाय में वृद्धि भी कराएगी। विद्वानों के अनुसार वर्तमान में गुरु, सिंह राशि और राहु, कन्या राशि में भ्रमणरत है।

images

सन 1884 में बना था ऐसा योग…  

इस बार जैसा योग बन रहा है। वैसा ही योग साल सन् 1884 में बना था। इस दीपावली के बाद अब यह योग साल 2145 में बनेगा। इस योग के कारण लक्ष्मी प्राप्ति के लिए किए गए काम और उपायों से सफलता मिलेगी। इसके साथ दीपावली में सौभाग्य योग है। जिसमें लक्ष्मी कारक हैं और सौभाग्य योग में दीपावली आने से यह अधिक शुभ होगी। इसके साथ ही सूर्य और बुध के साथ होने के कारण बुधादित्य योग है। यह योग राजयोग कहलाता है। इस योग में किसी भी कार्य को करने से श्रेष्ठता प्राप्त होती है।

अगले पेज पर पढ़ें सम्पूर्ण पूजा विधि और उपाय ….

पिछला पेज 1 of 4

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये Omnamahashivaya.com के साथ!

Loading...
SHARE