क्या आप जानते हैं? 5००० साल पहले ही महाभारत में हो गया था परमाणु बम का प्रयोग!!

रोबर्ट ओपेनहाइमर का ये कहना था की भारतीय ग्रन्थ महाभारत में युद्ध के समय जो वर्णन आता है वो बिलकुल परमाणु बम के असर और विस्फोट से मेल खाता है।  महाभारत में वर्णन कुछ इस प्रकार है की अचानक एक विस्फोट होता है और दूर दूर तक बहुत तेज़ रौशनी और गर्मी फैल जाती है मानो अनेक सूर्य एक साथ धरती पे आ गए हो। क्या दूर और क्या पास सभी लोगो के शरीर जुलसने लगते है , चमड़ी उतरने लगती है और ज़मीन भी फट सी जाती है उसमे दरारे पड़ जाती है।

इस अस्त्र का नाम ब्रह्मास्त्र था महाभारत में। उस समय ब्रह्मास्त्र ही सबसे शक्तिशाली अस्त्र माना जाता था जैसे आज के युग में परमाणु बम मन जाता है। अनेक वैज्ञानिक इस बात की पुष्टि करते है की महाभारत में ब्रह्मास्त्र कहलाने वाला अस्त्र ही आज का परमाणु बम है। इस बात को अधिक बल तब मिलता है जब वैज्ञानिक महाभारत के समय के स्थानो की जांच करते हुए वहा रेडियो एक्टिविटी पाती है। आज भी वहा की मिटटी में रेडियो विकिरण की दर सामान्य से अधिक पाई जाती है।

1

रोबर्ट ओपेनहाइमर यहाँ गीता की पंक्तियों का वर्णन करते हुए बता रहे है की महाभारत में जो विस्फोट हुआ वो परमाणु बम से कितना मेल खाता है। वो भी इस बात को मानते थे की महाभारत में अस्त्र शास्त्र का प्रयोग बहुत ही उन्नत ढंग से हुआ है। क्या ब्रह्मास्त्र सच में एक परमाणु बम था या कुछ और ये तो सदा राज़ ही रहेगा।

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये Omnamahashivaya.com के साथ!

Loading...
SHARE