“सुसाइड सांग” एक ऐसा सांग जिसे सुनकर लोगों ने कर ली आत्महत्या! कई देशों ने किया बैन!!

                 “जानिए इस सुसाइड सांग के बारे में”

हम सभी ये जानते है के म्यूजिक के पास हर एक स्तिथि के लिए कुछ न कुछ है। जब भी हम कभी परेशान होते है तो सैड सांग्स सुनते है। अगर बात मस्ती के मूड की हो तो हमारे पास हजारो गाने है। पर क्या आप जाते है इस दुनिया में कुछ ऐसे गाने भी बनाये गए है जिन्हें सुनकर लोगो ने आत्महत्या कर ली और बाद में मजबूरन सरकार को ये गाना बैन करना पड़ा।

“रेजसो सेरेस” (Rezso Seress) नाम के एक शख्श इस सूइसाइड सांग को लिखा और अपनी ही आवाज में गाया था। इनका जन्म वर्ष वर्ष 1889 में हंगरी में हुआ था। “रेजसो सेरेस” पियानो बहुत ही अच्छा बजाते थे और फिर बहुत अधिक टैलेंटेड होने के बाद भी वो निरंतर संघर्ष करते रहे। वो इस दुनिया में एक संगीतकार और गायक के तौर पर अपना नाम कामना चाहते थे पर उनका ज्यादातर जीवन गरीबी में ही गुजरा। उन्होंने सफलता पाने के लिए निरंतर प्रयास किये। पर उनकी असफलताओ को देखते हुए उनकी गर्लफ्रेंड ने उन्हें संगीत छोड़ कर कोई छोटी मोती नौकरी करने की सलाह दी।

zz-2

पर “रेजसो सेरेस” को संगीत से इतना लगाव था के वो निरंतर प्रयास करते रहे और उन्होंने अपनी गर्लफ्रेंड की बात को को मानने से इंकार कर दिया। और फिर 1932 में एक दिन उनकी गर्लफ्रेंड ने उन्हें हमेशा के लिए अकेला छोड़ दिया। अब करियर और प्यार से मिले धोके के बाद वो बहुत दुखी थे और निरंतर पियानो पे दर्दभरे साज छेड़ते रहे। फिर उन्होंने 1936 में “ग्लूमी संडे” नाम का एक सांग लिखा जिसे अपनी उदासी वाली आवाज में यूही गा दिया। और देखते ही देखते यह सांग उनके दोस्तों में मशहूर होने लगा और लोग उनके काम को सरहाने लगे।

आगे पढ़ें इस “सुसाइड सांग” के बारे में…

पिछला पेज 1 of 4
आगे पढ़ने के लिए अगला पेज पर क्लिक करें

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE