होली 2021- Date, पूजा, शुभ मुहूर्त, 499 साल बाद होली पर बना ऐसा दुर्लभ संयोग

Holi 2021 Date- Holi 2021 kab hai

होली का पर्व देशभर में बड़े ही धूम- धाम से मनाया जाता है। रंगो के इस पावन त्योहार का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व है।  होली के त्‍योहार का इंतजार लोग पूरे साल करते हैं. ये हिंदू धर्म के बड़े पर्वों में से एक है. अगर आप भी ये जानना चाहते हैं कि साल 2021 में होली (Holi) कब है (When Is Holi), तो हम आपके हर सवाल का जवाब लाए हैं । आइए आज जानते हैं कब मनाई जाएगी होली, किस दिन से लग जाएगा होलाष्टक और कब होगा होलिका दहन………

Holi 2021 Date In Hindi

2021 में होली कब है? (Holi 2021 Date) 29 मार्च, 2021 (सोमवार)

होलिका दहन रविवार, मार्च 28, 2021 को
होलिका दहन मुहूर्त – 18:37 से 20:56
अवधि – 02 घण्टे 20 मिनट्स
रंगवाली होली सोमवार, मार्च 29, 2021 को
भद्रा पूँछ -10:13 से 11:16
भद्रा मुख – 11:16 से 13:00


होलिका दहन प्रदोष के दौरान उदय व्यापिनी पूर्णिमा के साथ
पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – मार्च 28, 2021 को 03:27 बजे
पूर्णिमा तिथि समाप्त – मार्च 29, 2021 को 00:17 बजे

Holi – Festival Of Colors

होली का पर्व रंगों का पर्व (Holi Festival Of Colors) है. लोग काफी दिन पहले से ही इस त्‍योहार की तैयारी में लग जाते हैं. होली में रंगों के साथ अगर होली के गाने (Holi
Songs) ना हों, तो मजा ही नही है.

Holika Dahan-Holi Pujan Shubh Muhurta

28 मार्च 2021 (28 March 2021) को होलिका दहन शाम को प्रदोष काल में यानी शाम 6:37 से 8:56 तक किया जा सकेगा. पूर्णिमा तिथि रात 9 बजे तक रहेगी.

भद्रा काल

28 मार्च सोमवार को भद्राकाल सुबह 10:13 से शुरू होकर दोपहर 11:16 तक रहेगा. शाम को प्रदोषकाल में होलिका दहन के समय भद्राकाल नहीं होने से होलिका दहन शुभ फल देने वाला रहेगा. जिससे रोग, शोक और दोष दूर होंगे.

499 साल बाद होली पर बनेगा ग्रहों का ऐसा दुर्लभ संयोग, 1521 में मनाई गई थी ऐसी होली

सोमवार को होलिका दहन होना बहुत ही शुभ संयोग है. लेकिन इस साल इससे भी बड़ा शुभ संयोग होने वाला है. ऐसा संयोग पूरे 499 साल के बाद बनेगा. इस साल होली पर गुरु और शनि ग्रह का विशेष योग बन रहा है. ये दोनों ग्रह अपनी राशियों में ही रहेंगे. 29 मार्च को गुरु अपनी धनु राशि में जबकि शनि अपनी राशि मकर में रहेगा. इससे पहले दोनों ग्रहों का ऐसा संयोग 3 मार्च 1521 को बना था. उस दिन भी ये दोनों ग्रह अपनी-अपनी राशि में मौजूद थे.

बता दें कि इस बार होली के दिन शुक्र मेष राशि में, मंगल और केतु धनु राशि में, राहु मिथुन में, सूर्य और बुध कुंभ राशि में, चंद्र सिंह में रहेगा. ग्रहों के ऐसे योग से होली शुभ फल देने वाली रहेगी. यह योग देश में शांति स्थापित करने में सफल रहेगा. ग्रहों का ये अनोखा संयोग व्यापार के लिए अच्छा रहेगा और लोगों में टकराव खत्म हो जाएगा. मार्च के आखिर में गुरु भी अपनी राशि धनु से निकलकर शनि के साथ मकर राशि में आ जाएगा.


SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये Omnamahashivaya.com के साथ!

Loading...
SHARE