जानिए महादेव शिव के अस्त्र त्रिशूल, नाग, डमरू, त्र‌िपुंड और चंद्रमा का गुप्त रहस्य!!

भगवान महादेव शिव के पास कैसे आये ये, इन गुप्त एवं गहरे रहस्यों को जान हैरान रह जायेंगे आप!! 

हमारे हिन्दू धार्मिक ग्रंथो में यह वर्णन मिलता है के इस सम्पूर्ण सृष्टि के संचालन का दायित्व त्रिदेवो (ब्र्ह्मा, विष्णु, महेश) के हाथो में है। ब्रह्म देव ने इस सृष्टि का निर्माण किया है, भगवान विष्णु इस सृष्टि के पालनकर्ता है तथा भगवान महादेव शिव इन सबके संहारकर्ता है। हिंदू देवी देवताओं में भगवान शिव का ही रूप सबसे विचित्र और अनोखा बताया गया है। शिव के इस रूप के पीछे तमाम रहस्य हैं।

जैसा की हम अपनी पुरानी पोस्ट में भी भगवान महादेव शिव बारे में और उनके चमत्कारों के बता चुके हैं। आप इन रहस्यों को भी यहाँ नीचे क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

कहाँ रहते हैं हर हर महादेव? का रहस्य हो भगवान शिव की तीसरी आँख का रहस्य हो कैसे हुई इस ब्रह्मांड की उत्पत्ति? का रहस्य हो कैसे हुआ था सृष्टि का विस्तार या शिवलिंग का रहस्य हो।

phpthumb_generated_thumbnail

भगवान श‌िव का ध्यान करने मात्र से मन में जो एक छव‌ि उभरती है वो एक तपस्वी पुरुष की होती है। इनके एक हाथ में त्र‌िशूल, दूसरे हाथ में डमरु, गले में सर्प माला, स‌िर पर चंद्रमा और माथे पर त्र‌िपुंड चंदन लगा हुआ है। कहने का मतलब है क‌ि श‌िव के साथ ये 5 चीजें जुड़ी हुई हैं। आप दुन‌िया में कहीं भी चले जाइये आपको श‌िवालय में श‌िव के साथ ये 5 चीजें जरुर द‌‌िखेगी। क्या यह श‌िव के साथ ही प्रकट हुए थे या अलग-अलग घटनाओं के साथ यह श‌िव से जुड़ते गए। भगवन शिव को लेकर एक विशेष सीरीज में आज Omnamahashivaya.com आपको बता रहा हैं, श‌िव के साथ इनका संबंध कैसे बना और यह भगवान श‌िव जी से कैसे जुड़ी… इन रहस्यों से आज हम आपको अवगत करवा रहे हैं।

अगले पेज पर जानिए भगवान शिव के हाथ में त्रिशूल क्यों?

पिछला पेज 1 of 7

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE