जानिए इंसान की ये 6 बुरी आदतें जिनके कारण छिन जाता है धन, सुख और शांति!!!

हजारों साल पहले भगवत गीता में ही बता दिया गया था कि इंसान किन बुरी आदतों के कारण अपने जीवन को नर्क बना लेता है और अपने जीवन में सुख शांति को भी समाप्त कर लेता है। रामायण से लेकर गीता और महाभारत तक सभी में बताया गया है क‌ि मनुष्य के अंदर अगर यह 6 बुरी आदतें हैं तो उनका व‌िनाश तय है।

यह 6 बुरी आदतें ऐसी हैं जो न स‌िर्फ आपको आर्थ‌िक नुकसान पहुंचाते हैं बल्क‌ि आपके पार‌िवार‌िक जीवन और सुख शांत‌ि का भी नाश कर डालते हैं। इसलिए आज हम आपको बता रहे ये बुरी आदतें, हो सके तो आप इनसे दूर ही रहे अपने जीवन में, आपके अंदर भी यह बुरी आदतें हैं तो उन्हें दूर करने की कोश‌िश करें। आइये देखें क‌ि यह 6 बुरी आदतें आखिर क्या हैं।

1

1. काम वासना:-

क‌िसी भी व्यक्त‌ि के धन और सुख का नाश करने वाला सबसे पहला कारण काम को बताया गया है। काम भाव से पीड़‌ित व्यक्त‌ि अपने धन का नाश करता है। कामी व्यक्त‌ि अपने पर‌िवार की सुख-शांत‌ि का नाश कर बैठता है। पुराणों में इसके कई उदाहरण मौजूद हैं। देवराज इंद्र भी कई बार काम भाव के कारण अपनी सत्ता गंवा चुके हैं। रावण और दुर्योधन के व‌िनाश की एक वजह यह भी थी।

2

2.क्रोध:-

क्रोध को दूसरा कारण माना गया है जो व्यक्त‌ि का सब कुछ छीन लेता है। शास्‍त्रों में बताया गया है क‌ि पर‌िस्‍थ‌ित‌ि जब गंभीर हो उस समय क्रोध को अपने पर ब‌िल्‍कुल भी हावी नहीं होने देना चाह‌िए। व‌िपत्त‌ि में जो लोग संयम खो देते हैं और क्रोध करते हैं उनका अक्सर नाश होता है। इसका कारण यह है क‌ि क्रोध मनुष्य के व‌िवेक को नष्ट कर देता है ज‌िससे उच‌ित अनुच‌ित का व‌िचार नहीं रहता और मनुष्य अपना ही नुकसान कर बैठता है। शास्‍त्रों में क्रोध को असुरों का गुण कहा गया है और इसी कारण असुर हमेशा देवताओं से हारे हैं।

9

और आगे पढ़ें…………..

पिछला पेज 1 of 3
आगे पढ़ने के लिए अगला पेज पर क्लिक करें

SHARE

हिन्दू धर्म, ज्योतिष एवं स्वास्थ्य की लगातार अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और ट्विटर पेज फॉलो करें!! और बने रहिये ॐनमःशिवाय.कॉम के साथ!!

Loading...
SHARE